‘अहिंसा परमो धर्म’ को जन-जन तक पहुंचाने आचार्य महाश्रमण के साथ निकला साधकों का जत्था पहुंचा धमतरी:

post

जैन धर्म के आचार्य महाश्रमण, दर्जनों साधक व साध्वियों का आगमन धमतरी में सोमवार को हुआ। शहर आगमन पर जैन समाज व अन्य समाज के लोगों ने आचार्य व साधक-साध्वियों का आत्मीय स्वागत किया। धमतरी शहर के प्रवेश द्वार श्यामतराई मंडी, अंबेडकर चौक से ही स्वागत शुरू हो गया, जो शहर के अलग-अलग स्थानों पर चलता रहा।

जैन समाज के आचार्य महाश्रमण अहिंसा परमो धर्म के सूत्र वाक्य को जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य यह यात्रा कर रहे हैं। धमतरी में वे दो दिन रुकेंगे। उनके साथ 100 साधु व साध्‍वी चल रहे हैं। ऐसा पहला मौका है जब इतनी बड़ी संख्या में संत एक साथ शहर में हैं। यह यात्रा आंध्रप्रदेश से होते हुए कुछ दिनों पूर्व छत्तीसगढ़ की सीमा में प्रवेश हुई है।


जैन धर्म के आचार्य महाश्रमण, दर्जनों साधक व साध्वियों का आगमन धमतरी में सोमवार को हुआ। शहर आगमन पर जैन समाज व अन्य समाज के लोगों ने आचार्य व साधक-साध्वियों का आत्मीय स्वागत किया। धमतरी शहर के प्रवेश द्वार श्यामतराई मंडी, अंबेडकर चौक से ही स्वागत शुरू हो गया, जो शहर के अलग-अलग स्थानों पर चलता रहा।

जैन समाज के आचार्य महाश्रमण अहिंसा परमो धर्म के सूत्र वाक्य को जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य यह यात्रा कर रहे हैं। धमतरी में वे दो दिन रुकेंगे। उनके साथ 100 साधु व साध्‍वी चल रहे हैं। ऐसा पहला मौका है जब इतनी बड़ी संख्या में संत एक साथ शहर में हैं। यह यात्रा आंध्रप्रदेश से होते हुए कुछ दिनों पूर्व छत्तीसगढ़ की सीमा में प्रवेश हुई है।


शयद आपको भी ये अच्छा लगे!

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner