मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बूथ स्तर पर प्रशिक्षण देने खुद पहुँचे असम के तिओक विधानसभा:

post

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल असम चुनावी दौरे के बीच आज दूसरे दिन जोरहाट जिला के तिओक विधानसभा में बूथ स्तर की बैठक में सम्मिलित होकर बूथ ट्रेनिंग संकल्प शिविर का शुभारंभ किया। इस शिविर में 2000 से भी ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मिलित हैं। असम के इस क्षेत्र में पहली दफा ऐसा हो रहा है, जब कांग्रेस की सक्रियता बूथ स्तर पर देखी जा रही है। असम गणपरिषद् और भाजपा के गठबंधन के प्रभाव वाले इस क्षेत्र में विकास उपाध्याय की लगातार भ्रमण और बैठकों की वजह से यह स्थिति बनी है कि कांग्रेस पार्टी में लोग पूरे उत्साह के साथ इस बार के चुनाव में आगे बढकर सम्मिलित हो रहे हैं।

पहली दफा ऐसा हो रहा है जब किसी प्रदेश का मुख्यमंत्री बूथ स्तर की प्रशिक्षण शिविर में सम्मिलित होकर कांग्रेसियों को कांग्रेस के पक्ष में वोट को कैसे परिवर्तित किया जाए, के तरीके बता रहे हैं। आज जोरहाट जिला में तिओक विधानसभा के 180 बूथ वाले इस प्रशिक्षण शिविर में 2000 से भी ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मिलित हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल असम के इन कांग्रेस कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देते हुए आव्हान किया है कि इसी प्रशिक्षण स्थल से जब आप निकलकर एक-एक घरों से मतदाताओं को पोलिंग बूथ तक कांग्रेस विचारधारा के साथ ले जाएँगे, तभी कांग्रेस को जीत हासिल होगी। मुख्यमंत्री के उद्बोधन से प्रशिक्षण शिविर में सम्मिलित कांग्रेसियों में जबरदस्त उत्साह देखा गया। खास कर मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी ने अपनी उपस्थिति दर्ज कर इस प्रशिक्षण शिविर में अपना अनुभव साझा कर जान फूंक दी।

असम प्रभारी एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विकास उपाध्याय के प्रभार वाले इस जिले में वे कई दौर की बैठक कर असम कांग्रेस में पहली बार पन्ना सदस्य बनाये जाने की पहल करते हुए एक-एक मतदाता तक पहुँचने का रास्ता तय किया है। आज के इस प्रशिक्षण शिविर में ऐसे वे सभी बूथ अध्यक्ष व पन्ना सदस्य सम्मिलित हैं, जो पूरे 180 बूथ को कवर करते हुए पूरे विधानसभा में सक्रियता ला सकते हैं। 


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल असम चुनावी दौरे के बीच आज दूसरे दिन जोरहाट जिला के तिओक विधानसभा में बूथ स्तर की बैठक में सम्मिलित होकर बूथ ट्रेनिंग संकल्प शिविर का शुभारंभ किया। इस शिविर में 2000 से भी ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मिलित हैं। असम के इस क्षेत्र में पहली दफा ऐसा हो रहा है, जब कांग्रेस की सक्रियता बूथ स्तर पर देखी जा रही है। असम गणपरिषद् और भाजपा के गठबंधन के प्रभाव वाले इस क्षेत्र में विकास उपाध्याय की लगातार भ्रमण और बैठकों की वजह से यह स्थिति बनी है कि कांग्रेस पार्टी में लोग पूरे उत्साह के साथ इस बार के चुनाव में आगे बढकर सम्मिलित हो रहे हैं।

पहली दफा ऐसा हो रहा है जब किसी प्रदेश का मुख्यमंत्री बूथ स्तर की प्रशिक्षण शिविर में सम्मिलित होकर कांग्रेसियों को कांग्रेस के पक्ष में वोट को कैसे परिवर्तित किया जाए, के तरीके बता रहे हैं। आज जोरहाट जिला में तिओक विधानसभा के 180 बूथ वाले इस प्रशिक्षण शिविर में 2000 से भी ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मिलित हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल असम के इन कांग्रेस कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देते हुए आव्हान किया है कि इसी प्रशिक्षण स्थल से जब आप निकलकर एक-एक घरों से मतदाताओं को पोलिंग बूथ तक कांग्रेस विचारधारा के साथ ले जाएँगे, तभी कांग्रेस को जीत हासिल होगी। मुख्यमंत्री के उद्बोधन से प्रशिक्षण शिविर में सम्मिलित कांग्रेसियों में जबरदस्त उत्साह देखा गया। खास कर मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी ने अपनी उपस्थिति दर्ज कर इस प्रशिक्षण शिविर में अपना अनुभव साझा कर जान फूंक दी।

असम प्रभारी एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विकास उपाध्याय के प्रभार वाले इस जिले में वे कई दौर की बैठक कर असम कांग्रेस में पहली बार पन्ना सदस्य बनाये जाने की पहल करते हुए एक-एक मतदाता तक पहुँचने का रास्ता तय किया है। आज के इस प्रशिक्षण शिविर में ऐसे वे सभी बूथ अध्यक्ष व पन्ना सदस्य सम्मिलित हैं, जो पूरे 180 बूथ को कवर करते हुए पूरे विधानसभा में सक्रियता ला सकते हैं। 


शयद आपको भी ये अच्छा लगे!

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner